Health Card क्या है और कैसे बनवा सकते हैं, जानें इसके बारे में सबकुछ

डिजिटल कार्ड जो आपको बीमारी हेल्थ कार्ड से जुड़े रहेंगे, और सभी जानकारीयो को एक जगह रखेंगे! ये हेल्थ कार्ड एक तरह से आधार कार्ड की तरह होता है, ये किसी भी बीमारी के तहत तक जा सकेगे! इसमे जुड़ी सब बाते है, कौन -कौन से ढवाईयाॅ दिये गए और कौन सब देगे, सब पता चल जाएंगे ।

 

 

 

 

 

हेल्थ आईडी कार्ड कैसे बनाए जाते है।

• वहा एक हेल्थ आईडी के नाम से एक टाइटल रहेगे।

• तब जाकर create हेल्थ आईडी के विकल्प पर
क्लिक करेंगे।
• फिर आगे अपने आधार कार्ड या मोबाइल नंबर डालेगे !
और एक OTP आएगे, तब उस OTP को भरेगे, तब आप उसे Verify करेंगे!

• तब जाकर एक फॉर्म खुलेगे! और आप आपना एक फोटो देगे, जबकि पूरी जानकारी भरेगे, तब जाकर एक हेल्थ आईडी कार्ड बनेगे।

और मोबाइल नंबर मे आधार कार्ड नही जुड़े होगे, तो आप आधार नंबर से बना सकते है! हेल्थ आईडी कार्ड ।
और आप आधार नंबर मे अपना मोबाइल नंबर जुडा लेगे!
तो वह आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा ।

हेल्थ कार्ड के क्या फायदे है

हेल्थ आईडी कार्ड सब लोगो को बनाना चाहिए! आप किसी भी डॉक्टर, अस्पताल जाते है, तो ये हेल्थ आईडी कार्ड से पता चल जाते है,, जो आपको कौन- कौन से बीमारी है!

और कौन -कौन से ढवाई दे दिए वह आपका पूरा जानकारी मौजूद है, उसमे तब आपको कोई पर्ची या दवाई ले के नही जाना पड़ेगा, तब हेल्थ कार्ड ले के जाएगे, तभी आपका सब काम हो जाएगा! उसमे 14 नबंर का यूनीक तरीके से जनरेट किए एक नबंर होगा!

तब किसी भी मरीज के निजि मेडिकल रिपोर्ट के पता चल जाता है! 15 अगस्त 2020 को लाल किले से यह योजना घोषित किया गया है, इसके तहत देशवासियो को अब डिजिटल हेल्थ मशीन और कैसे आप घर बैठे बना सकते है,, डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड।

भारत मे हेल्थ आईडी कार्ड क्या है

पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड मे ब्लड ग्रुप, दबाई ,रिपोर्ट तथा डॉक्टर से संबंधित जानकारी जमा करेंगे, जबकि इस हेल्थ आईडी कार्ड पर 14 नबंर का एक नबंर होगा,जो हर एक पेशेंट की यूनीक हेल्थ आईडी रहेगे।

 

डिजिटल कार्ड को बढावा देने के लिए आनॅलाइन कर रहे है! जब सब चीज का पूरा डाटा सरकार के पास रहेगे,

रोगीयो का सारा डाटा इस कार्ड मे उपलब्ध होगा,और साथ ही पेस्ट सब को अपने साथ कोई भी रिपोर्ट ले जाने की जरूरी नही है, अगर आपके पास हेल्थ आईडी कार्ड हो तो डॉक्टर के माध्यम से लॉगिन करके आपका पूरा डाटा पता चल जाएगे ।

 

 

 

 

कैसे काम करता है हेल्थ कार्ड ?

अब इनमे 16 साल से ज्यादा उम्र वाले सभी आदमी के लिए डिजिटल आईडी कार्ड शुरू किया है! बच्चो के स्वास्थ्य से संबंधित जिसमे बच्चो के लिए सभी जानकारीया शामिल है, जबकि स्कूल मे बच्चे सुरक्षित रहेगे! या होना चाहिए!
और बच्चो के लिए पोषण और भोजन जो कि कैलोरी की बहुत आवश्यकता होती है! और प्रोटीन की आवश्यकता होती है, बच्चो के लिए वह मिलना चाहिए ,सब बच्चो को ।

 

 

 

मैं स्वास्थ्य कार्ड कैसे प्राप्त करू

आयुष्मान कार्ड के अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए! आपको अपना कोई आस-पास मे सेवा केंद्र पर अपना आधार कार्ड और राशन कार्ड तब जाकर मोबाइल नंबर भी ले जाकर जमा करना होगा ।
और आपका नाम आयुष्मान भारत योजना के लिस्ट पर है।तो जन सेवा केंद्र कर्मचारी द्वारा आपका डिटेल्स वेरिफाई कर देंगे! आपका आधार कार्ड के स्कैन करके आपको डिटेल्स वेरिफाई कर देंगे ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: